For Teleconsultation

New Covid Symptoms: कोविड-19 के नए वेरिएंट XE से रहें सावधान! जानिए क्या हैं लक्षण

New Covid Symptoms: कोविड-19 के नए वेरिएंट XE से रहें सावधान! जानिए क्या हैं लक्षण

New Covid Symptoms | कोरोना के नए वेरिएंट के लक्षण 

    देश में कोविड-19 के कम मामलों की वजह से कई राज्यों ने कोविड-19 पर प्रतिबंध (Covid-19 Restrictions) लगभग खत्म कर दिए हैं। वहीं, देश के कुछ-कुछ शहरों में मास्क पहनने की अनिवार्यता भी खत्म कर दी गई है। ध्यान देने वाली बात यह है कि कोरोना महामारी को आए हुए 2 साल से अधिक का समय बीत चुका है, लेकिन समय के साथ इसके नए-नए वेरिएंट (new covid symptoms) लोगों की जिंदगियों के लिए खतरा पैदा कर रहे हैं।

    वहीं, अब इन दिनों कोरोना वायरस का नया वेरिएंट XE (New Strain of Covid-19  XE)  सुर्खियों में है। Covid-19 के इस वेरिएंट को लेकर विश्वभर में हाहाकार मचा हुआ है। वेरिएंट XE को ज्‍यादा रफ्तार से फैलने वाला बताया जा रहा है। ऐसे में आइए जानते हैं नए वेरिएंट XE के लक्षण एवं बचाव के उपाय-

    कोरोना का XE वेरिएंट क्या है? ((What is the XE Variant of Corona?)

    कोरोना का XE वेरिएंट, ओमिक्रॉन के सब-वेरिएंट BA.1 और BA.2 के कॉम्बिनेशन से बना है, मतलब ये 'रिकॉम्बिनेंट' या हाइब्रिड वेरिएंट है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि रिकॉम्बिनेंट वायरस दो पहले से मौजूद वेरिएंट के कॉम्बिनेशन यानी मिलकर बनते हैं। ऐसा वायरस में लगातार हो रहे म्यूटेशन यानी परिवर्तन की वजह से होता है। यानी एक ही व्यक्ति के एक ही समय पर दो कोरोना वेरिएंट से संक्रमित होने से उसके शरीर में इन दोनों वेरिएंट के जेनेटिक मैटीरियल मिल जाते हैं, जिससे बनने वाले वेरिएंट को ‘रिकॉम्बिनेंट’ कहते हैं। ध्यान देने वाली बात है कि रिकॉम्बिनेंट वेरिएंट (Recombinant Variants) नया नहीं है, इससे पहले भी डेल्टा और ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron Variants) के रिकॉम्बिनेंट के मामले सामने देखे जा चुके हैं।

    XE वेरिएंट कितना खतरनाक है?

    XE वेरिएंट का पहला मामला 19 जनवरी को ब्रिटेन में मिला था। अब इसके मामले विश्व भर में मिल चुके हैं। WHO के मुताबिक, XE वेरिएंट ओमिक्रॉन के सबसे संक्रामक माने जा रहे ओमिक्रॉन के सब-वेरिएंट BA.2 से भी 10% ज्यादा संक्रामक है। वहीं, XE वेरिएंट की गंभीरता और इस पर वैक्सीन के प्रभाव को लेकर अभी और अध्ययन की जानी बाकी है।

    XE वेरिएंट से भारत को कितना खतरा है?

    XE ओमिक्रॉन के ही दो सब-वेरिएंट के म्यूटेशन से बना है, ऐसे में इस बात की पूरी संभावना है कि देश में XE वेरिएंट के मामले पहले ही मौजूद हों, लेकिन अभी उनकी पहचान होना बाकी हो। हालांकि, हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार, भारत को XE वेरिएंट से ज्यादा खतरा नहीं है, क्योंकि ये ओमिक्रॉन से जुड़ा सब-वेरिएंट है, जिसकी लहर अभी हाल ही में देश से गुजरी है।

    कोरोना के XE वेरिएंट के लक्षण | Corona XE Variant Symptoms

    कोरोना के XE वेरिएंट के लक्षण (Corona XE Variant Symptoms)

    जहां कई लोगों पर कोरोना वायरस का हल्का प्रभाव पड़ता है। वहीं, कुछ लोगों पर इसका गंभीर प्रभाव देखने मिलता है। कोरोना के नए वेरिएंट XE (new covid symptoms) के कुछ खास लक्षण सामने आए हैं-

    • घबराहट
    • बुखार
    • हापोक्सिया
    • नींद या बेहोशी में बोलना
    • ब्रेन फॉग
    • मानसिक भ्रम
    • वोकल कॉर्ड न्यूरोपैथी
    • हार्ट रेट हाई होना

    कोविड-19 से संबंधित किसी भी जानकारी के लिए 88569-88569 पर कॉल करें और पाएं डॉक्टर से FREE सलाह। 

    नए XE वेरिएंट्स से कैसे करें बचाव?

    नए XE वेरिएंट्स से कैसे करें बचाव?

    हेल्थ के विशेषज्ञों के मुताबिक, कोरोना (Corona) के बढ़ते खतरे के मद्देनजर लोगों को स्वयं बचाव के उपायों का पालन करते रहना चाहिए। यह कोविड-19 से बचाव के प्रभावी उपाय हो सकते हैं। ऐसा करके संक्रमण को बढ़ने से रोकने में भी मदद कर सकते हैं-

    ·    मास्क पहनना
    ·    भीड़-भाड़ वाली जगहों पर अनावश्यक रूप से जाने से बचना।
    ·    हाथों की स्वच्छता का ध्यान रखना।
    ·    वैक्सीनेशन करवाएं।
    ·    हाथों को नियमित रूप से साबुन से धोएं, सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें।

    कोविड-19 से संबंधित किसी भी जानकारी के लिए 88569-88569 पर कॉल करें और पाएं डॉक्टर से FREE सलाह। 

    कोविड-19 के लिए नई दवा (New Medicine for Covid-19)

    मौजूदा वक़्त में COVID-19 के टीके के रूप में इन वैक्सीन का उपयोग किया जा रहा है-
    कॉर्बेवैक्स वैक्सीन (Corbevax vaccine)
    कोवैक्सिन वैक्सीन (Covaxin Vaccine)
    कोविशील्ड वैक्सीन (Covishield Vaccine)
    जॉनसन एंड जॉनसन वैक्सीन (Johnson & Johnson Vaccine)
    मॉडर्न वैक्सीन (Moderna Vaccine)
    नोवावैक्स वैक्सीन (Novavax Vaccine)
    स्पूतनिक लाइट वैक्सीन (Sputnik Light Vaccine)
    स्पूतनिक वी वैक्सीन (Sputnik V Vaccine)
    जायडस कैडिला वैक्सीन (Zydus Cadila Vaccine)

    कोविड-19 से संबंधित किसी भी जानकारी के लिए 88569-88569 पर कॉल करें और पाएं डॉक्टर से FREE सलाह। आप अपने नज़दीकी उजाला सिग्नस अस्पताल में अपना बेहतर और किफायती इलाज भी करवा सकते हैं। हमारे अस्पताल कानपुर, रेवाड़ी, काशीपुर, वाराणसी, सोनीपत, पानीपत, कुरुक्षेत्र, दिल्ली में नांगलोई और रामा विहार, कैथल, बहादुरगढ़, करनाल, मुरादाबाद, हल्द्वानी और आगरा में मौजूद हैं।

    Your Comments

      Related Blogs

      Nangloi : 8750060177

      Sonipat : 0130-2213088

      Panipat : 0180-4015877

      Karnal : 0184-4020454

      Safdarjung : 011-42505050

      Bahadurgarh : 01276-236666

      Kurukshetra : 01744-270567

      Kaithal : 9996117722

      Rama Vihar : 9999655255

      Kashipur :7900708080

      Rewari : 01274-258556

      Varanasi : 7080602222