Stomach care

Blog from Stomach care

    Hernia in hindi upchar: हर्निया एक आम बीमारी है, कुछ लोगों में ये बीमारी बढ़ती उम्र के कारण होती है तो कुछ लोगों में बचपन (hernia in child in hindi) से ही इसके लक्षण दिखाई देते हैं। वैसे हार्निया को जानलेवा तो नहीं कहा जा सकता लेकिन समय रहते इसका इलाज करवाना बहुत ज़रूरी होताYour Read More Link Text

    Inguinal hernia in hindi: इंग्वाइनल हर्निया की स्थिति तब पैदा होती है जब आंत का कोई हिस्सा पेट की मांसपेशियों में से आगे की तरफ ऊभर जाए या निकल जाए। इंग्वाइनल हर्निया काफी दर्दनाक होता है, खासकर जब कोई काम करें जैसे- वजन उठाना, झुकना इस स्थिति में ज्यादा दर्द होता है, इसके अलावा खांसतेYour Read More Link Text

    हर्निया एक बहुत ही आम बीमारी है, ये समस्या स्त्री या पुरुष किसी को भी बड़ी आसानी से हो सकता है, खासतौर पर ये पेरशानी उस इंसान को अधिक होती है जिसके पेट की मसल कमजोर हो जाती है। इस बीमारी में पीड़ित व्यक्ति की पेट की मांसपेशिया कमजोर हो जाती हैं, इतना ही नहींYour Read More Link Text

    हर्निया एक आम बीमारी है, ये किसी स्वस्थ व्यक्ति को भी आसानी से हो सकता है। आमतौर पर ये बीमारी 40 से 50 की उम्र के बाद होता है और उस जगह को सबसे पहले अपने प्रभाव में लेता है जहां के मसल्स कमजोर होते हैं, या वहां चोट लगा हो। हर्निया से पीड़ित व्यक्तिYour Read More Link Text

    Piles food to avoid: बवासीर एक बेहद दर्दनाक समस्या है, इस बीमारी से पीड़ित  मरीज के गुदा के अंदर और बाहर मस्से बन जाते हैं जो सूज जाते हैं। इस बीमारी से पीड़ित रोगी (piles patient) को उठने- बैठने और मल त्यागने में काफी तकलीफों का सामना करना पड़ता है। जिन लोगों को बवासीर केYour Read More Link Text

    Piles, fissure and fistula: इन तीनों बीमारियों में कुछ खास अंतर (fissure and piles difference) नहीं है, क्योंकि पाइल्स, फिशर और फिस्टुला तीनों ही गुदे से सम्बंधित रोग हैं। आजकल लोग व्यस्त जीवनशैली और गलत खानपान के कारण कब्ज़ के शिकार हो जाते हैं, और जब ये कब्ज़ ज्यादा दिनों तक लगातार बना रहता हैYour Read More Link Text

    कब्ज़ एक ऐसी परेशानी है जिससे हर दूसरा व्यक्ति झूझ रहा है। कई बार उल्टा सीधा खाना खा लेने के कारण पेट में कब्ज़ की समस्या बन जाती है जिससे मल त्यागने में काफी परेशानी होती है औऱ जोर लगाना पड़ता है। एक तरह से इस छोटी सी परेशानी को खतरनाक भी कहा जा सकताYour Read More Link Text

    आजकल की ये अनियमित जीवनशैली ही तमाम तरह की घातक बीमारियों का कारण बनती है, बवासीर (piles) भी इन्ही बीमारियों में से एक है। बवासीर यानी पाइल्स (plies) से पीड़ित व्यक्ति को उठने- बैठने और मल त्यागने में काफी दिक्कतें होती हैं। कई बार तो अपने आप ही मल के रास्ते से खून आने लगताYour Read More Link Text

    आजकल इस अस्थ-व्यस्थ दिनचर्या के कारण एसिडिटी (acidity) होना आम बात है। सुबह ऑफिस जाने की जल्दी और रात में थकान के मारे सोने की जल्दी में हम अक्सर कुछ ऐसी चीज़ों का सेवन कर लेते हैं जिसे हमारे पेट का सिस्टम सह नहीं पाता और फिर व्यक्ति को पूरे दिन खट्टी डकार, पेट फूलना,Your Read More Link Text

Nangloi : 8750060177

Sonipat : 0130-2213088

Panipat : 0180-4015877

Karnal : 0184-4020454

Safdarjung : 011-42505050

Bahadurgarh : 01276-236666

Kurukshetra : 01744-270567

Kaithal : 9996117722

Rama Vihar : 9999655255

Kashipur :7900708080

Rewari : 01274-258556

Varanasi : 7080602222